रैंसमवेयर कंप्‍यूटर वायरस का खतरा, अपने कंप्‍यूटर को ऐसे बचायें साइबर अटैक से

166

भारत, ब्रिटेन सहित करीब 100 से अधिक देशों में साइबर अटैक हुआ है। अब ये खबर है कि ऐसे हमले अभी और हाे सकते हैं। साइबर अटैक में ब्रिटेन के हेल्‍थ सिस्‍टम और अमेरिकी अंतरराष्‍ट्रीय कूरियर सर्विस FedEx को निशाना बनाया गया है। एक्सपर्ट का कहना है कि यह साइबर अटैक कंप्‍यूटर वायरस ‘रैंसमवेयर’ के जरिए किया गया है। ये वायरस ई-मेल और सिक्योरिटी वार्निंग्स के जरिए कंप्यूटर में भेजे गए हैं। इन 5 तरीकों से आप इस साइबर अटैक में अपने पर्सनल डाटा को बाजार में पहुंचने से बचा सकते हैं।

1. सभी पासवर्ड फटाफट चेंज करें


चाहे किसी प्रकार की हैकिंग हो या साइबर अटैक हो। ऐसी स्थिति में सबसे पहले अपने सभी प्रकार के पासवर्ड को चेंज कर दें। जैसे- कंप्यूटर का पासवर्ड, बैंकिंग पासवर्ड, फाइल/फोल्डर का पासवर्ड। साथ ही नया पासवर्ड बड़ा यानी ज्यादा कैरेक्टर वाला रखें। दुनिया के 50 परसेंट इंटरनेट यूजर्स कमजोर पासवर्ड रखते हैं।

2. बिना HTTPS वाली वेबसाइट को ना खोलें


आमतौर पर किसी अधिकतर वे वेबसाइट सिक्योर होती हैं जिनके यूआरएल की शुरुआत  “https” से होती है। इसके साथ ही आपको सिक्योर का सिंबल भी दिखता है। इसलिए किसी भी वेबसाइट पर आप वीजिट कर रहे हैं तो https का जरूर ख्याल रखें

3. टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन यूज करें


आजकल फेसबुक, ट्विटर, जीमेल सभी टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन की सुविधा दे रहे हैं। इस आप यूज करें, ताकि जब भी आपका अकाउंट एक्सेस हो तो आपके पास नोटिफिकेशन आए और ओटीपी आए।

4. डेबिट/क्रेडिट कार्ड में खरीदारी की लिमिट रखें


कई बैंक इसकी सुविधा दे रहे हैं कि आप अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड पर खरीदारी की लिमिट फिक्स करें। साथ ही अपने मोबाइल को बैंक अकाउंट से हर हाल में अटैच कराएं। ताकि ट्रांजेक्शन की नोटिफिकेशन आपको मिल जाए।

5. एंटी वायरस से स्कैन करें

ऐसी स्थिति में सबसे पहले अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में एंटी वायरस को रन कराएं, ताकि कोई वायरस होगा भी तो उसे फिक्स किया जा सकेगा। एक बात का जरूर ख्याल रखें कि आपका एंटी वायरस सॉफ्टवेयर अपडेट होना चाहिए।

6. किसी भी मेल को झट से ना खोलें


जैसा कि बताया जा रहा है कि यह साइबर अटैक ई-मेल के जरिए वायरस भेजकर हुआ है। इसलिए किसी भी ई-मेल को फटाफट ना खोलें। यदि ई-मेल में कोई अटैचमेंट हो तो उसे भी ना खोलें और ई-मेल में आए लिंक को भी ओपन करने से बचें। उल्टे-सीधे मेल से बचें।

80%
Awesome
  • Design

You might also like More from author

Comments

Loading...