इंटरनेशनल सिम कार्ड फेल होने पर यूजर्स को कंपनी देगी 5000 रूपये जुर्माना

नियम पोस्ट-पेड और प्री-पेड दोनों प्रकार के ग्राहकों के लिए

118

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने अंतरराष्टीय रोमिंग सिम और वैश्विक कॉलिंग कार्ड विदेश यात्रा के दौरान फेल होने की स्थिति में सेवाप्रदाताओं पर 5,000 रुपए जुर्माना लगाने का प्रस्ताव किया है जो मुआवजे के तौर पर ग्राहक को मिलेगा।

ट्राई का प्रस्ताव है कि यह प्रीपेड और पोस्ट पेड दोनों तरह के ग्राहकों को मिलेगा। दूरसंचार विभाग को भेजे अपने सुझाव पत्र में ट्राई ने कहा है कि प्रीपेड ग्राहक को अतिरिक्त तौर पर वह सारा पैसा भी वापिस मिलना चाहिए जो वह सेवाप्रदाता को पहले ही भुगतान कर चुका है।

यह नियम पोस्ट-पेड और प्री-पेड दोनों प्रकार के ग्राहकों के लिए होगा। प्री-पेड ग्राहकों को रिचार्ज का पूरा रिफंड मिलेगा। यह नियम भारत में अपनी सेवा दे रहीं विदेशी कंपनियों पर लागू होगा। देश वापिस लौटने के 15 दिन के अंदर ग्राहकों को रिफंड मिलेगा, हालांकि ग्राहकों को इसके लिए शिकायत करनी होगी।

You might also like More from author

Comments

Loading...